आखिर क्यों ट्रेन के डिब्बे के पीछे ‘X’ का निशान होता है ?

भारत में हर दिन करोड़ो लोग ट्रेन से सफ़र करते है कई बार आपने भी ट्रेन से सफर किया होगा | लेकिन क्या आप जानते हैं ट्रेन के लास्ट बोगी या डिब्बे में X का निशान क्यों बना रहता है| सभी लोग ट्रेन में तो सफर करते है लेकिन हर कोई ट्रेन में लिखे X का मतलब नहीं जानता है| आप में से कुछ लोगों ने ट्रेन की आखिरी बोगी में इस निशान के बारे में कभी भी नहीं सोचा होगा और कई ऐसे भी लोग होते हैं जिन्होंने यह निशान कभी देखा भी न हो या इस पर ध्यान नहीं दिया होगा |

हम सभी जानते है कि ट्रेन में सभी डिब्बे एक दूसरे से जुड़े रहते है ऐसे में अगर इनके जुड़ाव में कोई खामी निकल गयी तो ट्रेन के कई डिब्बे ट्रेन से निकल के पीछे छूट सकते हैं| ट्रेन का सफर काफी लम्बा होता है अगर ट्रेन के कई डिब्बे पीछे छूट गए तो भी ट्रेन ड्राईवर को पता नहीं चल पायेगा | ऐसी स्थिति में दूसरी ट्रेन को उस लाइन पर जाने की परमीशन नहीं दी जाती है |

इस वजह से ट्रेन के लास्ट डिब्बे में X का निशान बनाया जाता है ताकि ट्रेन के कर्मयारियों को यह पता चल सके की पूरी तरह से ट्रेन जा चुकी है या फिर आ चुकी है | सभी ट्रेन में X का निशान अवश्य होता है क्योंकि इसी से पता चलता है कि ट्रेन किसी भी हादसे का शिकार नहीं हुई है और ट्रेन एक स्टेशन से दूसरे स्टेशन पर सही सलामत पहुँच चुकी है | आपको बता दे कि हर ट्रेन में X निशान वाला डिब्बा होना अनिवार्य होता है |

ट्रेन के लास्ट डिब्बे में आपको सफेद या पीले रंग का X का निशान मिल जायेगा | ट्रेन पूरी आ चुकी है और अब पूरी ट्रेन इस स्टेशन से अगले स्टेशन जाएगी इसकी पहचान के लिए ट्रेन के लास्ट डिब्बे में X निशान के अलावा और भी सांकेतिक चीजे होती है जैसे ट्रेन के आखिर डिब्बे पर बिजली का एक लैंप भी जरूर होता है | यह लैंप हर थोड़ी देर बाद चमकता है. पहले के समय में यह लैंप तेल से चलाया जाता था लेकिन आजकल यह लैंप बिजली से चलता है | रात के समय X का निशान तो दिखेगा नहीं इसलिए आखिरी डिब्बे पर बिजली से जलने वाला टेल लैम्प लगाया जाता है |

इन सबके अलावा ट्रेन के लास्ट डिब्बे में LV भी लिखा होता है जिसकी फुल फॉर्म Last Vehicle होती है इसका मतलब यह हुआ कि ये ट्रेन का अंतिम डिब्बा या बोगी है |अगर स्टेशन पर आने वाली ट्रेन में X निशान वाला डिब्बा या LV लिखा हुआ वाला डिब्बा नहीं दिखाई देता है तो इसका मतलब यह हुआ कि ट्रेन पिछले स्टेशन से पूरी नहीं आयी है ट्रेन के कुछ डिब्बे ट्रेन से अलग होकर पीछे रह गए हैं |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

후원 혜택